होटल में बर्तन धोने का काम करते थे फिर शुरू किया अपना काम आज कमाते है 2 लाख रूपये महीना , ग्लस्टोस पेजेरिया , बिजल दवे

 होटल में बर्तन धोने का काम करते थे फिर शुरू किया अपना काम आज कमाते है 2 लाख रूपये महीना , ग्लस्टोस पेजेरिया , बिजल दवे


नमस्कार दोस्तों ... 

आज हम आपके लिए लेकर आये है एक बहुत ही प्रेरणादायक कथन और सत्य घटना , ये कोई पुरानी या मनघडत कहानी नहीं है , दोस्तों हम बात कर रहे है बिजल दवे की जो आज हर तरफ सुर्खियों में छाए हुवे है , ये कहानी है उनके संघर्ष की , कैसे उन्होंने नौकरी न मिलने पर एक होटल में बर्तन धोने और सब्जी काटने का काम किया और बाद में अपना खुद का काम करके आज 2 लाख रूपये महीना कमाते है और कई लोगो को निकरि भी दे राखी है , अब उनके काम की इतनी मांग है की वो अपने काम की फ्रंचासी भी देने के बारे में सोच रहे है , आइये आपको विस्तार से बताते है इनके बारे में ...

आज कमाते है 2 लाख रूपये महीना 

वडोदरा के रहने वाले बिजल दवे एक पिज्जा रेस्त्रां चलाते हैं.यहां 45 प्रकार के पिज़्ज़ा बनाया जाता है. अपने इस काम से वो हर महीने लगभग 2 लाख रुपये कमा लेते हैं. कंप्यूटर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने वाले दवे 5 लोगों को रोज़गार दे रहे हैं और अपने लिए 40 हज़ार महीना कमा रहे हैं. लेकिन यहां तक पहुँचने के लिए उन्हें काफी संघर्ष करना पड़ा.

enginering की पढाई करने के बाद नहीं मिली नौकरी 


दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, दवे को नौकरी न मिलने की वजह से उस्न्होने केन्या का रुख किया. वहां उन्होंने एक होटल में बर्तन धोने और सब्जियां काटने का काम किया. वहां काम करते हुए उनकी पहचान एक इटालियन कस्टमर से हुई. उसने उन्हें कांगो में अपने पिज्जा रेस्तरां में नौकरी की पेशकश की.

पिज़्ज़ा बनाना सीखा और मार्च 2019 में वापिस आये 



वहां उन्होंने पिज़्ज़ा बनाना भी सीख लिया. इसके बाद उन्होंने पार्टनरशिप में अपनी खुद की पिज़्ज़ा की दुकान खोली. लेकिन कांगो उपद्रवियों का केंद्र था. एक बार उन्होंने उनकी पूरी दुकान जला डाली. इसके बाद उन्होंने वापस लौट अपने देश में ही कुछ करने का फैसला लिया. वह मार्च 2019 में वडोदरा लौट आए. वो वापस इटालियन पिज़्ज़ा बनाने की कला के साथ वापस लौटे थे. इसीलिए उन्होंने एक पिज़्ज़ा दुकान खोलने का फैसला किया.

पेसो की तंगी के कारण बिल्डिंग के कम्पाउंड में ही खोला ग्लस्टोस पेजेरिया रेस्टुरेंट 

कम पैसों के चलते उन्होंने अपनी बिल्डिंग कंपाउंड के खुले स्थान में ग्लस्टोस पेजेरिया नाम से एक रेस्त्रां खोला. उनका ये काम चल पड़ा और आज वो 5 लोगों को रोज़गार भी दे रहे हैं. उनका यकीन है कि जल्द ही उनकी  शहर के कई इलाकों में मेरे रेस्टोरेंट की फ्रेंचाइजी होंगी.

हिम्मत न हारने वालों की कभी हार नहीं होती है.


follow us :



tags :

विदेश में बर्तन धोने का काम किया… वापस देश लौटे, बिज़नेस शुरू किया और अब कमाते हैं 2 लाख रु. महीना


Images for विदेश में बर्तन धोने का काम किया… वापस देश लौटे, बिज़नेस शुरू किया और अब कमाते हैं 2 लाख रु. महीना


ग्लस्टोस पेजेरिया , बिजल दवे




 youtube,

 Facebook,

 google ,

 gmail, 

amazon, 

yahoo ,

yahoo mail ,

weather , 

netflix , 

Walmart , 

ebay , 

google translate ,







टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भारत की इस एकमात्र फ़ूड कंपनी के साथ जुड़कर कीजिए लहसुन पैकिंग का काम वेतन 87000 रूपये महीना

भारत की इन 4 बड़ी कंपनियों के साथ मिलकर घर बैठे करे BLUE TEA (नीली चाय) ग्रीन कॉफ़ी , और GREEN TEA की पैकिंग का काम हर महीने मिलेगा १ लाख रूपये

घर बैठे करे पैकिंग का काम कमाए लाखो रूपये महीना , पॉपकॉर्न कंपनी दे रही है मौका