फिर कहते है Privatization मत करो , Why Not privatization in bank ,railway and different Government sector

 फिर कहते है Privatization मत करो , 

दोस्तों आज का हमारा टॉपिक आपको 100 प्रतिशत पसंद आएगा ,क्योकि ये टॉपिक है हर आम इंसान से जुडी ही दिकत्तो के बारे में और उन्हें Solve , निपटारा करने में सरकारी संस्था या सरकारी आदमी किस तरह से आपके साथ पेश आता है ,उसका नजरिया क्या होता है आपको देखने का , और आपको क्या क्या दिक्कतों का सामना करना पड़ता है आपकी कोई दिक्कत परेशानी को दूर करने में ,सबसे बड़ी बात ये की अगर वही problem ,दिक्कत दूसरी जगह यानि private sector में चुटकियो में solve हो जाती है , 



सबसे पहले बात करते है की आप कौन हो और आपको क्या चाहिए , इसका एक ही सीधा सा उत्तर है की आप एक आम इंसान हो जिसकी दिनचर्या बहुत व्यस्त है ,और आपको अपना काम या प्रॉब्लम का निपटारा जल्द से जल्द हो बस यही आप चाहते है , यानि कुल मिलकर आप एक बेहतर service चाहते है , 

यह पर हम कुछ ऐसे सेक्टर के बारे आपको बताएंगे और बताएंगे क्या आपको अपने साथ हुयी ठीक ऐसी ही कोई न कोई बात जरूर याद आ जाएगी , यानि के ये पोस्ट सिर्फ आप और हर उस आदमी के लिए है जो कहि न कहि इस बात से परेशान है की उसे सर्विस समय पर नहीं मिलती , 

सबसे पहले BANKING SECTOR की बात करते है जिसके कारण बेंको ने अभी हड़ताल भी की थी , 



दोस्तों सबसे पहले आपको में खुद अपनी एक प्रॉब्लम के बारे इ बताना चाहूंगा जोकि अभी चल रही है और पिछले एक महीने से उसके लिए में बैंको में इसके लिए चक्कर लगा रहा हूँ , और इस problem के चलते ही मुझे ध्यान आया की अगर यही काम Private बैंक में होता तो कब का हो गया होता , 

आप ये जो पोस्ट पढ़ रहे है इनका एक छोटी सी income होती है जोकि कहि न कहि आज के इस महंगाई के दौर में जीवन चलाने के लिए जरूरी है , 

अभी बैंको का merger हुवा , कई बैंको को दूसरे बड़े बैंको के साथ मिला दिया गया जिसके कारण उनके ifsc code और बाकि details बदल गयी , इसी के चलते हमारी जो थोड़ी सी पेमेंट आनी थी वो अटक गयी , भेजने वाले ने भेज दी और उसकी receipt आदि सभी details भी हमे दे दी , 

वो सारी डिटेल्स लेकर हमे एक महीना हो गया बैंको के चक्कर काटते काटते लेकिन अभी तक कोई solution नहीं हुवा , अगर यही काम किस प्राइवेट बैंक जैसे HDFC , ICICI , AXIS आदि में होता तो maximum  2 से 3 दिन में सोल्वे हो जाती , मेरे बैंक वालो ने ये भी बता दिया की वो पेमेंट कहा है लेकिन बावजूद इसके कुछ कर नहीं पा रहे , 


इसके आलावा हम बात करते है देश के सबसे बड़े बैंक SBI यानि STATE BANK OF INDIA की , दोस्तों इस बैंक का नाम सुनते ही आपको कुछ न कुछ याद जरूर आया होगा , अगर आपका खता इस बैंक में है तो आपने इन सभी दिक्कतों का सामना जरूर किया होगा , यह पर आप जाओगे तो बैंक कर्मचारी आपसे इस तरह से बात करते है जैसे आप कोई जुर्म करके आये हो , आपके खुद के पैसे को लेने के लिए 100 सवाल पूछे जाते है , और अगर आप किसी अलग service के बारे में पूछ लो तो बस जैसे की आप उनके सबसे बड़े दुश्मन हो इस तरह से आपको देखा जाता है , ठीक इसी तरह बाकि सरकारी बैंको में भी होता है , ये सब इसलिए की इनकी बहुत ज्यादा salary होती है और सबसे बड़ी बात वो fix होती है , जो कंपरिवाते बैंक का कर्मचारी 20 हजार की salary पर करता है और बेहतर करता है वही काम सरकारी वाले 50 हजार या उससे ज्यादा salary लेकर भी नहीं करता  , क्योकि उसे पता है की किसी का काम हो या न हो उसकी salary fix है वो आनी ही आनी है ,


दूसरे नंबर पर आता है रेलवे : 



दोस्तों यह पर आपने कई बार देखा होगा की आप ticket window पर लाइन में लगे है , काफी भीड़ लगी है ticket लेने के लिए और सामने बैठी madam या sir अपने पैसे गिनने में लगी है , या अपना record maintain करने में लगी है , उनकी तरफ से आपकी train निकलती है तो निकल जाए , लेकिन वो अपने सारे पैसे और आज का काम अभी ड्यूटी पर ही ख़तम करेंगी ताकि उन्हें ड्यूटी के बाद इस काम के लिए 5 ,10 मिनट भी रुकना न पड़े , और इनकी salary , 40000 , 50000 होती है ,यही काम मेट्रो वाले 10 से 12 हजार में भी कर रहे है , और रेलवे खिड़की पर आप कुछ बोल भी नहीं सकते क्योकि सामने RPF , रेलवे police वाले खड़े होते है यह आपने कुछ कहा की वो आपको पकड़ कर अपने ऑफिस ले जाएंगे , आगे आप जानते ही हो , 

इसके आलावा आप ने reservation करा लिया seat आपकी confirm नहीं है TTE महोदय आएंगे बार बार आपको बोलेंगे gernal coach में जाओ , भाई चार्ज reservation वाला दिया है तो कम से कम toilet के पास , नीचे फर्श पर बैठने तो दो , 

इससे अलग एक कमाल की बात अगर किसी कारण से आप बिना टिकट के गाड़ी में चढ़ जाते हो , जबकि ऐसा करना नहीं चाहिए लेकिन आपकी कुछ मजबूरी है ,किसी कारण आप थोड़ा late हो गए और आप टिकट नहीं ले पाए तो TTE महोदय पहले सीधी slip निकालेंगे बताएंगे की  कम से कम 500 की पर्ची बनेगी और बाद में 200 से 25 लेकर मन जाते है , कल की बात है की इसके बदले न तो वो आपको कुछ देते है और ना सरकार को , 

इसके आलावा आप बिजली विभाग ले लीजिए , अपने bsnl को ले लीजिए , 


जहा यही सभी sector अगर private में है तो वो हर साल बढ़ते जा रहे है और सरकारी sector हर साल नुकसान में जाते है , क्योकि इनके कर्मचारी ठीक से काम नहीं करते ,

इसलिए हम सब कहते है की privatization हो जाना चाहिए ,क्योकि इसके होने से हमारा ,आपका और सब का काम समय पर होगा , बेहतर सेवा मिलेंगी , और जो कर्मचारी आज आँख दिखाते है वो तमीज़ से बात करेंगे जैसे प्राइवेट वाले करते है , 

दोस्तों अगर इस पोस्ट में आपको कुछ बुरा लगा हो तो हम आपसे माफ़ी मांगते है , लेकिन सच्चाई आप भी जाने है अगर पोस्ट अच्छी लगे तो share जरूर कीजिए , और अपने comment जरूर दीजिए , हमे पता है जो भी सरकारी कर्मचारी या सरकारी बैंको वाले इसे पढ़ेंगे तो उन्हें बुरा लगेगा , लेकिन सर ,madam यही चीज़ आप हमे हर बार महसूस कराते हो ,  

Comments

Popular posts from this blog

बीज और लकड़ी से पाउडर बनाओ हर दिन १० लाख तक कमाओ , ना कच्चा मॉल खरीदने की दिक्कत ना बना हुआ मॉल बेचने की टेंशन , 10 best " work from home business" idea

भारत की इन 4 बड़ी कंपनियों के साथ मिलकर घर बैठे करे BLUE TEA (नीली चाय) ग्रीन कॉफ़ी , और GREEN TEA की पैकिंग का काम हर महीने मिलेगा १ लाख रूपये

घर बैठे करे पैकिंग का काम कमाए लाखो रूपये महीना , पॉपकॉर्न कंपनी दे रही है मौका