अपराध शाखा की जांच में हुआ सनसनीखेज खुलासा, 150 से अधिक देशों से मरकज में आता था पैसा


कुछ इस तरह चर्चा में आया निजामुद्दीन ...

निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी मरकज मामले में एक और खुलासा हुआ है। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की जांच में सामने आया है कि मरकज से लोग विदेश भी जाते थे, जिनका उद्देश्य धर्म प्रचार नहीं बल्कि पैसा लाना था। पुलिस को इस बात के भी सुबूत मिले हैं कि कई देशों के राष्ट्राध्यक्ष भी इन्हें पैसा देते थे। साथ ही जांच में ये बात भी सामने आई है कि मरकज से लोग चीन भी गए थे और चीन से लोग मरकज में भी आए थे।
जांच से जुड़े अपराध शाखा के पुलिस मुख्यालय में बैठने वाले अधिकारी ने बताया कि मरकज से 150 से ज्यादा देशों में जाने बात सामने आ चुकी है। मरकज से जुड़े लोगों को दूसरे देशों में कहने को धर्म प्रचार के लिए भेजा जाता था, लेकिन असल उद्देश्य पैसा लेना था। धर्म का प्रचार करने के नाम पर विदेशों से पैसा इकट्ठा किया जाता था। मरकज से जाने वाला व्यक्ति खुद ही अपना विदेश जाने का खर्च भी उठाता था। हैसियत के हिसाब से व्यक्ति को विदेश भेजा जाता था।

यदि कोई पैसे वाला है तो उसे विदेश भेजा जाता था और कम पैसे वाला है तो उसे भारत में किसी भी राज्य में भेज दिया जाता था। मरकज के खातों में विदेशों से बड़ा फंड भी आया है। संगम विहार में रहने वाले जिस जमाती ने संगम विहार व देवली में जो तीन हॉटस्पॉट बनाए हैं वह मरकज के कहने पर फिजी गया था। फिजी से दिल्ली आने के बाद वह अपने घर जाने के बजाय मरकज में गया था और वहीं पर तीन दिन रहा था। ये बात भी सामने आई है कि मरकज में चीन से भी नौ जमाती आए थे। इन जमातियों को पुल प्रह्लादपुर रेलवे कंपाउंड में बने क्वारंटीन सेंटर में रखा गया है। माना जा रहा है कि विदेश जाने वाले लोग कोरोना महामारी से पीड़ित हो गए हों।

अपराध शाखा ने मौलाना साद को टेस्ट कराने का कहा
दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने मरकज के मौलाना मोहम्मद साद को कहा है कि वह सरकारी अस्पताल में कोरोना का टेस्ट कराएं, ताकि पूछताछ में शामिल किया जा सके। अपराध शाखा के अधिकारियों का कहना है कि कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट मिलने के बाद ही पुलिस मौलाना साद को जांच के लिए बुलाएगी। साद काफी समय से जामिया नगर के जाकिर नगर में रह रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि वह जानबूझकर टेस्ट नहीं करा रहे हैं।

Download Amar Ujala App for Breaking News in Hindi & Live Updates. https://www.amarujala.com/channels/downloads?tm_source=text_share

Comments

Popular posts from this blog

भारत की इस एकमात्र फ़ूड कंपनी के साथ जुड़कर कीजिए लहसुन पैकिंग का काम वेतन 87000 रूपये महीना

भारत की इन 4 बड़ी कंपनियों के साथ मिलकर घर बैठे करे BLUE TEA (नीली चाय) ग्रीन कॉफ़ी , और GREEN TEA की पैकिंग का काम हर महीने मिलेगा १ लाख रूपये

घर बैठे करे पैकिंग का काम कमाए लाखो रूपये महीना , पॉपकॉर्न कंपनी दे रही है मौका